Surah Humazah in Hindi मक्की सूरह है और इसमें 9 आयतें हैं। कुरान में यह सूरह हुमज़ह के नाम से 30वें पारा में मौजूद है। यह Surah Humazah 104वीं सूरह है।



दोस्तों सूरह अल हमजाह (surah al humazah in hindi) शुरू करने से पहले
मैं आपको surah al humazah यानी wailul likulli humazatil (सूरह अल
हमजाह) के बारे में कुछ छोटी मगर जरूरी बातें बता देना चाहता हूँ।

Surah Al Humazah in Hindi


मैं आपको सूरह अल हमजाह  से जुड़ी कुछ Facts बताता हूँ जो हर एक
मुसलमान सख्स को पता होनी चाहिए।


1. Surah al humazah (सूरह अल हमजाह जाह) कुरान पाक का 104 सूरह
है।
2. wailul likulli humazatil lumazah में कुल 9 आयतें हैं।
3. Surah al humazah का मतलब “निंदा करने वाला” है।

इतना हमारे लिए काफी है Surah al humazah (सूरह अल हमजाह) को जानने के
लिए। तो चलिए शुरू करते हैं।

    Surah Al-Humazah in Hindi me Tarjuma Saath

    (सूरह हुमज़ह हिंदी में)



    बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
    अल्लाह के नाम से, जो बड़ा मेहरबान निहायत रहम बाला है।
     
    1. वैलुल लिकुल्ली हुमा ज़तिल लुमाजह
    हर उस आदमी के लिए बर्बादी है जो पीठ पीछे ऐब लगाने वाला है और मुंह
    पर ताना देने वाला है



    2. अल्लज़ी जमआ मालव व अद ददह
    जिसने माल जमा किया हो और गिन गिन कर रखता हो


    3. यह सबु अन्ना मा लहू अख् लदह
    #3- और वो समझता है उसका ये माल हमेशा उस के साथ रहेगा


    4. कल्ला लयुम बज़न्ना फिल हुतामह
    #4- बिल्कुल नहीं वो ज़रूर तोड़ फोड़ कर रख देने वाली जहन्नम में फेंक
    दिया जायेगा।



    5. वमा अदराका मल हुतामह
    और आपको पता भी है कि हुतामह (तोड़ फोड़ कर रख देने वाली) चीज़ क्या
    है



    6. नारुल लाहिल मूक़दह
    वो अल्लाह की भड़काई हुई आग है


    7. अल्लती तत तलिऊ अलल अफइदह
    जो दिलों तक जा पहुंचेगी


    8. इन्नहा अलैहिम मु’ सदह
    यक़ीनन वो आग उन पर बंद कर दी जाएगी


    9. फ़ी अमादिम मुमद ददह
    वो (आग के) लम्बे लम्बे खम्भो में (घिरे हुयी होंगी)

    Surah Al-Humazah Hindi Image



    Surah Al-Humazah Hindi Image




    Surah Al-Humazah in Hindi Pdf Download



    मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर
    सूरह हुमज़ह को हिंदी में तर्जुमा  के साथ पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने
    Surah Al-Humazah
    की Hindi Image भी देखी होंगी।



    यहाँ हमने Surah Al Humazah Hindi Pdf उपलब्ध करायी है आप
    आसानी के साथ सूरह हुमज़ह की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।



    download pdf surah humazah in hindi


    Surah Humazah in English with Transliteration



    Bismillaahir Rahmaanir Raheem
    In the name of God, the Most Gracious, the Most Merciful




    1. Wailul Likulli Humazatil Lumazah
    Woe to every slanderer and backbiter


    2. Allazi JaMa Aa Maalaw Wa Ad Dadah
    Who has gathered wealth and counted it,


    3. Yah sabu Anna MaLahu Akhladah
    He thinks that his wealth will make him last forever!


    4. Kalla Layum Bazanna Fil Hutamah
     Nay! Verily, he will be thrown into the crushing Fire
     
    5. Wama Adraka Mal Hutamah
    And what will make you know what the crushing Fire is?


    6. Naarul Laahil Mooqadah
    The fire of Allah, kindled,


    7. Allati Tat Taliu Alal Af’idah
    Which leaps up over the hearts,


    8. Innaha Alaihim Mu’sadah
    Verily, it shall be closed in on them,


    9. Fi Amadim Mumad Dadah
    In pillars stretched forth (i.e. they will be punished in the Fire
    with pillars, etc.).


    Surah Humazah  English Image



    Surah Humazah  English Image



    यह भी पढ़ें:- Surah Kausar Hindi Mein Pdf

    Surah Humazah in English Pdf Download



    मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर
    सूरह हुमज़ह को इंग्लिश में तर्जुमा  के साथ पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने Surah Al-Humazah की
    English Image भी देखी होंगी।



    यहाँ हमने Surah Al Humazah English Pdf उपलब्ध करायी है आप
    आसानी के साथ सूरह हुमज़ह की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।


    download pdf surah humazah in hindi

    Wailul Likulli Surah Arabic with Urdu Tarjuma





    بِسْمِ ٱللَّهِ ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ‎
    شروع اللہ کے نام سے جو بڑا مہربان نہایت رحم والا ہے


    وَيْلٌ لِّكُلِّ هُمَزَةٍ لُّمَزَةٍ ۝‎
    بڑی خرابی ہے ہر ایسے شخص کی جو عیب ٹٹولنے واﻻ غیبت کرنے واﻻ
    ہو



    ٱلَّذِى جَمَعَ مَالًا وَعَدَّدَهُۥ ۝‎
    جو مال کو جمع کرتا جائے اور گنتا جائے


    يَحْسَبُ أَنَّ مَالَهُۥٓ أَخْلَدَهُۥ ۝‎
    وه سمجھتا ہے کہ اس کا مال اس کے پاس سدا رہے گا


    كَلَّاۖ لَيُنۢبَذَنَّ فِى ٱلْحُطَمَةِ ۝‎
    ہرگز نہیں یہ تو ضرور توڑ پھوڑ دینے والی آگ میں پھینک دیا جائے
    گا



    وَمَآ أَدْرَىٰكَ مَا ٱلْحُطَمَةُ ۝‎
    اور تجھے کیا معلوم کہ ایسی آگ کیا ہوگی؟


    نَارُ ٱللَّهِ ٱلْمُوقَدَةُ ۝‎
    وه اللہ تعالیٰ کی سلگائی ہوئی آگ ہوگی


    ٱلَّتِى تَطَّلِعُ عَلَى ٱلْأَفْـِٔدَةِ ۝‎
    جو دلوں پر چڑھتی چلی جائے گی


    إِنَّهَا عَلَيْهِم مُّؤْصَدَةٌ ۝‎
    وہ ان پر ہر طرف سے بند کی ہوئی ہوگی


    فِى عَمَدٍ مُّمَدَّدَةٍۭ ۝
    بڑے بڑے ستونوں میں

    Wailul Likulli Surah in Arabic Image



    Wailul Likulli Surah in Arabic Image



    यह भी देखें:- Quran की Hd Photos और Wallpaper

    Wailul Likulli Surah in Arabic Pdf Download



    मेरे प्यारे दीनी भाइयों और बहनों जैसा की आपने ऊपर
    सूरह हुमज़ह को अरबी में तर्जुमा  के साथ पढ़ा ही होगा। साथ ही साथ आपने Wailul Likulli Surah की
    Arabic Image भी देखी होंगी।



    यहाँ हमने Surah Al Humazah Arabi Pdf उपलब्ध करायी है आप
    आसानी के साथ सूरह हुमज़ह की पीडीऍफ़ को डाउनलोड कर सकते है।
    download pdf surah humazah in hindi

    Surah Humazah Mp3 or Audio File Download

    मेरे प्यारे भाइयों और बहनों जैसा की आपने इस पोस्ट में
    सूरह हुमज़ह को सभी भाषाओं में टेक्स्ट और इमेजेज के जरिये पढ़ा
    ही होगा।

    लेकिन अगर आप सूरह सुनना पसंद करते है, जिससे आपने दिल और दिमाग को
    आराम मिलता है।


    तो हमने आपके लिए सूरह हुमज़ह की Mp3 फाइल उपलब्ध करायी है आप आसानी के साथ यहाँ से
    Surah Al-Humazah की ऑडियो फाइल डाउनलोड करके सुन सकते है



    download pdf surah humazah in hindi

    Surah Al-Humazah Benefits and Fazail (सूरह हुमजह के फायदे)



    1. हमारे प्यारे पैगंबर (सल्लललाहू अलैह वसल्लम) फरमाते हैं: “जो
    कोई सूरह हुमज़ह की तिलावत करता है, उसे दस नेकियाँ अता की
    जाएँगी।



    2. इमाम सादिक (रदी अल्लाहु ताला अन्हु) ने फरमाया कि जो अपनी किसी
    फर्ज़ नमाज़ में सूरह हुमज़ह की तिलावत करता है, गरीबी उससे दूर रहेगी,
    रिज़्क़ उसके पास आएगा, गरीबी से महफूज रहेगा और एक भयानक मौत उससे दूर
    हो जाएगी।



    3. सूरह अल हुमज़ह की तिलावत करना, आँखों में दर्द का इलाज है
    और आँखों में दर्द से राहत के लिए सूरह अल हुमज़ह की तिलावत करके
    आँखों में धीरे से फूंकना चाहिए।



    4. सूरह अल हुमज़ह की तिलावत करने से मौत आना आसान हो जाती है।


    5. अगर किसी शख्स पर कोई जिन्नात या बुरी नज़र का असर हो रखा है तो
    उस शख्स के ऊपर सूरह हुमजह पढ़कर फूँक देने से बुरे असरात दूर हो
    जयिंगे। इंशा अल्लाह

    Surah Humazah Tafseer(सूरह हुमजह की तफसीर)

    सूरह हमजा में कुछ इख्लाकी यानी व्यवहारिक बुराइयों के बारे में
    बताया गया है। जो उन दिनों अरब के जहिलियत के समाज में वहां के माल
    दारों के अंदर पाई जाती थी।
    माल वा दौलत और शानो शौकत में वह लोग मस्त थे, एक दूसरे को ताना दिया
    करते थे, एक दूसरे को आपस में चुगलियां करके लडवा देते थे, भाइयों
    में फूट डाल देते थे, पीठ पीछे बुराई करते थे अपने आप को तो नहीं
    देते थे लेकिन दूसरे की बुराई को जरूर देख लेते थे और यह सब उन में
    इसलिए था कि वह अपनी दौलत के नशे में चूर थे
    यह 3 बुराइयां खास तौर पर इस सूरह में बयान किया गया है और इस
    बुराईयों से होने वाले अज़ाब के बारे में भी बताया गया है।
    1- मुंह पर ताना देना

    2- पीठ पीछे बुराई करना

    3- माल को गिन गिन कर रखना
    यह बुराइयां उनके समाज में मौजूद थीं लेकिन वह मौत को भूले हुए थे बस
    उनको अपनी दौलत को गिन-गिन कर रखने का शौक था और इस दौलत को नेकी की
    राह में खर्च करने से कंजूसी करते थे।
    वह समझ बैठे थे कि यह दौलत कभी भी उनका साथ नहीं छोड़ेगी और इनको यह
    कभी भी खयाल नहीं था कि एक वक्त ये सब माल दौलत छोड़ कर अकेले ही
    जाना पड़ेगा और एक ढेला भी इनके साथ नहीं जाएगा।

    ऐसे लोगों का अंजाम

    उसके बाद इनको बताया गया कि हिसाब किताब के दिन ऐसे लोगों का क्या
    अंजाम होगा क्योंकि दुनिया में ऐसे लोग फलते फूलते ही नजर आते हैं और
    ऐसे लोग मौत से गाफिल होते हैं इनके खयाल में सिर्फ यही दुनिया की
    जिंदगी है और फिर मरने के बाद सब कुछ खत्म हो जाना है।
    इस सूरह में जहिलियत की सरदारी का एक नमूना पेश किया गया है ऐसे
    लोगों को इनके अंजाम से खबरदार किया गया है इन लोगों के लिए अल्लाह
    ताला ने खास अपनी तरफ से एक जहन्नम की आग तैयार की है और उसका नाम
    हुतामा है।
    वो आग दुनिया की आग की तरह अंधी नहीं होगी की सब को जला दें बल्कि वह
    एक एक मुजरिम के दिल तक पहुंचेगी उसके जुर्म की लेवल को पता करेगी उस
    दिल में जहां उनकी नापाक ख्वाहिशें पलती रही।
    वहां तक सजा देगी, हर एक को उसके लेवल के मुताबिक जहन्नम में
    मुजरिमों को डालकर उस पर उस आग को बंद कर दिया जाएगा और मुजरिम को
    लंबे-लंबे खंभों से बांधकर दिया जाएगा और वो जरा भी हिल नहीं सकेंगे
    और ना ही उनके आजाब में कमी होगी।
    वहां कोई और दरवाजा नहीं होगा कि वहां से बाहर निकल भाग निकलने का
    कोई सवाल पैदा हो सके आग लंबे-लंबे खंभों की शक्ल में उठ रही होगी
    बल्कि वह हमेशा हमेशा इसी आग में झुलसते रहेंगे।


    Some Questions and Answers about Surah Humazah


    1. In which para is Surah Humazah in Quran?

    Ans. सूरह हुमजह, कुरान करीम के 30वें पारा में मौजूद
    है



    2. How many aayats in Surah Humajah?

    Ans. सूरह हुमजः में 9 आयतें हैं


    5. What is the meaning of Humazah?

    Ans. सूरह हुमजह का अंग्रेजी में मतलब होता है “The
    Traducer” or “The Gossip-Monger” जिसका हिंदी में मतलब होता है
    “ताज़िर” या “गप-सप करने बाला”




    दोस्तों अगर ये पोस्ट पसंद आई हो तो आगे भी लोगों को भेजें


    Tags:- Surah Al Humazah in Hindi | Surah Humazah ki Pdf | Humazah Surah Hindi Pdf | सूरह हुमज़ह हिंदी में पीडीऍफ़ 

    By admin

    Related Post

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *